बंगाल बना कश्मीर, चुनाव के बाद बड़े पैमाने पर नरसंहार व आगजनी जारी

बंगाल इलेक्शन में TMC को बहुमत मिला और ममता बनर्जी अपनी सीट नंदीग्राम में शुभेंदु अधिकारी से हार गयी, जिसके बाद बंगाल में TMC समर्थकों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया, और पूरे बंगाल को हिंसा की आग में झोंक दिया।  

बंगाल में अब तक बड़े पैमाने पर बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गयी और बीजेपी कार्यालयों को आग के हवाले कर दिया गया, TMC समर्थक गुंडों ने अलग अलग शहरों में लूटपाट भी की, कई बीजेपी समर्थकों की दुकानों को लूटा गया, TMC समर्थक यही नहीं रुके, बीजेपी कार्यकर्ता महिलाओं के साथ भी मारपीट और रेप की घटनाएं भी सामने आई है, जो की एक अमानवीय घटना है,

TMC पार्टी के लोगों के द्वारा चुनाव से पहले भी हमले की घटनाएं देखने को मिली थी, जिसमे JP Nadda के काफिले पर हमला किया गया था, और बहुत जगह देसी बम से भी हमले किये गए थे, बंगाल में अब तक बड़े पैमाने पर राजनीतिक हत्याएं की जा चुकी है.

TMC पार्टी के लोग इतने आक्रामक क्यों है?

TMC एक कम्युनिस्ट विचारधारा रखने वाली पार्टी है, और जानकारों की माने तो TMC पार्टी नक्सल लोगो से भी प्रभावित है, जैसा कि बीजेपी अब तक आरोप लगाती आई है, दूसरा बड़ा कारण तुष्टिकरण की राजनीति है, जिसमे एक खास समुदाय के लोगो को प्राथमिकता देकर समाज को कमजोर करने का काम किया जाता है. दूसरा बड़ा कारण रोहिंग्या लोगों को बंगाल में शरण देना, बंगलादेश से घुसपैठ करके रोहिंग्या मुस्लिम् समुदाय बड़ी संख्या में बंगाल में अब तक बस्ता आया है, नरेंद्र मोदी जी की सरकार रोहिंग्या लोगों को उनके घर वापस भेजने के लिए बड़ा अभियान देश भर में चला रही है.

बंगाल की हिंसा और कश्मीर में हुए नरसंहार में क्या समानता है

बंगाल में होने वाली घटनाएं कोई नयी नहीं है, इस से पहले भी हम बहुत ऐसी खबरें सुनते आ रहे है, जिसमें बताया जाता है, की गोला बारूद का इस्तेमाल करके बम तयार किये जाते है, और अवैध हथियारों से भी बंगाल के लोगों पर हमला किया जाता है,

जिस पर ममता सरकार कोई एक्शन लेती दिखाई नहीं देती है, धीरे धीरे बंगाल एक टेरर फैक्ट्री के रूप में उभर कर आ रहा जो बंगाल के भविष्य के लिए और वहां रहने वाले सभ्य लोगों के लिए खतरनाक है, जो हालात कश्मीर में बने थे हिन्दुओ के लिए आने वाले समय में वही हालत बंगाल में रहने वाले हिन्दू लोगों के लिए बन रहे है, हिन्दू कार्यकर्ता अपने घर जाने से डर रहे हैं 

बंगाल की वर्तमान स्थिति को देखते हुए सोशल मीडिया पर राष्ट्रपति शासन लगाने और ममता सरकार को बर्खास्त करने की मांग जोर पकड़ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *